Saturday, August 07, 2010

बारिश



फ़लक पर बादल घिरे हैं मौसम भी भीना-भीना है,
बारिश तो होनी ही है ये अगस्त का महीना है।

6 comments:

महेन्द्र मिश्र said...

बारिश पर बहुत बढ़िया भाव...आभार

संगीता पुरी said...

बहुत बढिया !!

अजय कुमार said...

अच्छी प्रस्तुति , सावन पर ।

अमिताभ मीत said...

अच्छा ??

varsha said...

ye bheeni abhivyakti.

राजेश उत्‍साही said...

आपने तो दो पंक्तियों में ही सारी बात कह दी । शब्‍दों की यह बचत बहुत अच्‍छी लगी।